Monday, September 21, 2009

प्रार्थना-पत्र नहीं दें, हक मांगे'

आजादी के साठ साल बाद भी लोगों को काम कराने के लिए प्रार्थना-पत्र देना पडे तो यह कहीं न कहीं शासन की कमजोरी भी उजागर करता है। जरूरत
प्रार्थना-पत्र देने की नहीं बल्कि हक मांगने की है। यह विचार केन्द्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री सीपी जोशी ने सोमवार को जिले के कोटडी,
बीगोद व माण्डलगढ में लोगों से संवाद करते हुए कही। सभी जगह जोशी ने लोगों को ईद की मुबारकबाद दी।
जोशी ने ग्रामीणों को सूचना के अधिकार का अधिकाधिक उपयोग करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने नरेगा व अन्य सरकारी योजनाओं में भ्रष्टाचार की शिकायतें
मिलने का उल्लेख करते हुए कहा कि सूचना के अधिकार का उपयोग होने लगे तो कई समस्याओं का स्वत: ही समाधान हो सकता है। लोकसभा चुनाव जीतने
के बाद पहली बार ग्रामीण दौरे पर निकले जोशी का कांग्रेस कार्यकर्ताओं व आम लोगों ने स्वागत किया।
जोशी बच्चों को शिक्षित करने का संदेश देने के साथ आने वाले पंचायत चुनाव में योग्य जनप्रतिनिधि चयन के लिए प्रेरित करते रहे। जोशी के साथ दौरे में
वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री रामलाल जाट, जिला प्रमुख कन्हैयालाल धाकड, विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष देवेन्द्रसिंह, विधायक कैलाश त्रिवेदी, प्रदीपकुमार
सिंह, पूर्व मंत्री रतनलाल ताम्बी भी थे।
किसान जागो सभा के लिए प्रचार शुरू किसान मजदूर व्यापारी संघर्ष समिति का सिंचाई पानी की समस्या को लेकर जागो सभा के लिए गांवों में गठित दलों ने सोमवार से प्रचार शुरू कर दिया है।
समिति के प्रचार मंत्री महेन्द्र तरड ने बताया कि उपाध्यक्ष हडमान कडवासरा सहित अन्य जनों ने रावला क्षेत्र के 10 केडी, 7 डीओएल, खानूवाली आदि
पंचायतों के चक ढाणियों, माकपा नेता लक्ष्मण सिंह, जनवादी नौजवान सभा जिलाध्यक्ष राजू जाट, एसएफआई के सुनील गोदारा ने पतरोडा, 18 पी,
6 एच आदि गांवों में किसानों से सम्पर्क किया।
समिति अध्यक्ष संत लेखासिंह, तारासिंह आदि जीडी व एमडी क्षेत्र में किसानों से मिले। वहीं नाहरांवाली क्षेत्र में सरपंच रामप्रताप राव के नेतृत्व दल ने
जनसम्पर्क किया।

1 comment:

ambi said...

ish baat se ham purn roop se sahmat he