Tuesday, August 18, 2009

पूर्व विधायक की विधवा भीख मांगने को मजबूर

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के करीबी रहे पूर्व विधायक सूरज लाल गुप्ता की 80 वर्षीय विधवा प्रेमा देवी को पेट भरने के लिए गोंडा की सड़कों पर भीख मांगना पड़ रहा है। बेटे द्वारा घर से निकाल दिए जाने के बाद प्रेमा देवी दर-दर की ठोकरें खा रही हैं। जिला महिला अस्पताल में पत्रकारों ने उन्हें भीख मांगते हुए देखा। प्रेमा देवी ने पत्रकारों से कहा कि उनका बेटा उनसे कोई संबंध नहीं रखना चाहता है। उसने उन्हें घर से निकाल दिया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2007 में पति की मौत के बाद उनके बेटे का व्यवहार अचानक बदल गया। कुछ समय पहले पुश्तैनी घर बेचने का जब उन्होंने विरोध किया तो उसने (बेटे) ने उन्हें (प्रेमा देवी) घर से चले जाने को कहा। प्रेमा देवी की पुनर्वास के लिए पत्रकारों ने जिला प्रशासन से संपर्क किया। गोंडा के अपर जिलाधिकारी सुखलाल भारती ने बताया कि उन्हें इस बात पर आश्चर्य हुआ कि विधायक की विधवा सड़कों पर भीख मांग रही हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। पीड़िता की हर संभव मदद की जाएगी। जिले के मुख्य विकास अधिकारी रामदास ने कहा कि यह चिंता का विषय है। प्रशासन पीड़िता की मदद के लिए मुख्यमंत्री कार्यालय से संपर्क करेगा। प्रेमा देवी के पति सूरज लाल गुप्ता बलरामपुर लोकसभा सीट से सांसद रहे अटल बिहारी बाजपेई के बहुत करीबी थे। वह बलरामपुर की उतरौली विधानसभा सीट से दो बार विधायक चुने गए थे।

1 comment:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) said...

पत्रकारों को तो मसाला चाहिए तो वो मिल गया कि हे भगवान इतने महान देश में नेता की बूढ़ी विधवा सड़कों पर भीख मांग रही है। इस देश में अधिकांश भिखारी किसी न किसी मजबूरी के तहत ही भीख मांगने की स्थिति तक जा पहुंचते हैं। देश भीख मांग कर कर्ज में सिर से पैर तक डूबा हुआ है। इस बात पर किसी ने खबर बनाने क जरूरत नहीं समझी।